नेपाल जाने वाले सैलानियों के लिए 17 जुलाई से वीजा शुल्कों में होंगे बड़े बदलाव

नेपाल जाने वाले सैलानियों के लिए 17 जुलाई से वीजा शुल्कों में होंगे बड़े बदलाव, जानिए अब कितना चुकाना होगा?

नेपाल के आव्रजन विभाग (डीओआई) के अनुसार सरकार 17 जुलाई से विदेशी पर्यटकों के लिए वीजा शुल्क बढ़ाने जा रही है। जानिए आखिर कितना बढ़ाया गया है वीजा शुल्क ?

काठमांडू,अगर आप भी आने वाले दिनों में नेपाल की सैर पर जाने का प्लान बना रहे हैं तो वहां हुए एक बदलाव की आपको जानकारी होनी चाहिए।नेपाल सरकार 17 जुलाई से विदेशी पर्यटकों के लिए वीजा शुल्क बढ़ाने जा रही है। नेपाल के आव्रजन विभाग (डीओआई) के अनुसार सरकार 17 जुलाई से विदेशी पर्यटकों के लिए वीजा शुल्क बढ़ाने जा रही है। नेपाल के दि हिमालयन टाइम्स के हवाले से शुक्रवार को बताया गया था कि नेपाल सरकार ने मई में यह शुल्क बढ़ाने का फैसला लिया था, क्योंकि विदेशियों के लिए पर्यटक वीजा शुल्क लगभग एक दशक से नहीं बढ़ाया गया था।

आव्रजन(डीओआई) अधिकारियों ने हालांकि कहा कि वीजा शुल्क में फिलहाल मामूली बदलाव ही होगा। जबकि ‘विजिट नेपाल 2020’ अभियान के बाद इसे दोबारा संशोधित किया जाएगा। डीओआई के महानिदेशक एशोर राज पौडेल के मुताबिक, ‘ वीजा शुल्क को प्रासंगिक बनाने के लिए विदेशी पर्यटकों पर वीजा शुल्क में बदलाव आवश्यक है। हम पर्यटन अभियान ‘विजिट नेपाल 2020′ के पूरा होने के बाद वीजा शुल्क संरचना पर फिर से काम करेंगे।’

कितना बढ़ाया गया वीजा शुल्क ?
आव्रजन विभाग ने सैलानियों के लिए पांच से 35 डॉलर के बीच वीजा शुल्क में बढ़ोतरी की है। जबकि 15 दिनों के लिए पर्यटक वीजा (एक से अधिक प्रवेश) को पांच से 30 डॉलर बढ़ाया गया है। वहीं 30 दिनों के लिए वीजा शुल्क 40 से 50 डॉलर कर दिया गया है। इसी तरह, पर्यटक वीजा शुल्क 90 दिनों के लिए 35 से बढ़ाकर 125 डॉलर कर दिया गया है। विभाग ने विदेशी पर्यटकों के लिए वीजा विस्तार शुल्क भी बढ़ाया है। विभाग के अनुसार, वीजा विस्तार शुल्क (वैध वीजा अवधि के भीतर) दो डॉलर से तीन डॉलर प्रतिदिन बढ़ा दिया गया है।

You might also like More from author

Leave a Reply

%d bloggers like this: