संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत ने दिया पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के हर झूठ का मुंहतोड़ जवाब

9यूएन में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने पाकिस्तान के आरोपों का मुंहतोड़ जवाब दिया। विदिशा मैत्रा ने कहा कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के मंच का गलत इस्‍तेमाल किया है। इमरान खान ने दुनिया को गुमराह करने की कोशिश की है। इमरान खान का भाषण नफरत से भरा हुआ था। उनके भाषण में काफी सारा झूठ शामिल था। पाकिस्तान ने खुलेआम आतंकी ओसामा बिन लादेन का बचाव किया था। पाकिस्‍तान में अंतरराष्‍ट्रीय आतंकियों को पेंशन देता रहा है। इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने UNGA में अपने संबोधन के दौरान भारत पर कई अनर्गल आरोप लगाए। उन्होंने कश्मीर को लेकर गलत बयानी की और भारत पर कश्मीर में ज्यायदती का आरोप लगाया। वे यहीं नहीं रुके और उन्होंने कहा कि अगर कश्मीर में कर्फ्यू हट जाए तो वहां खून की नदियां बहेंगी।

यूएन में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने पाकिस्तान को जवाब देते हुए कहा कि इमरान खान का भाषण नफरत से भरा हुआ था और उनके भाषण में काफी सारा झूठ शामिल था।

भारत ने कहा कि मानवाधिकार की बात करने वाले पाकिस्तान को सबसे पहले पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की हालत देखनी चाहिए जिनकी संख्या 23 प्रतिशत से 3 प्रतिशत पर पहुंच गया।

विदिशा मैत्रा ने कहा कि पाकिस्तान ने खुलेआम आतंकी ओसामा बिन लादेन का बचाव किया था, ये किसी से छिपा नहीं है। पाक अंतरराष्‍ट्रीय आतंकियों को पेंशन देता रहा है।

भारत ने पाकिस्‍तान के भाषण को इमरान की हेट स्पीच बताते हुए कहा कि उन्होंने इस वैश्विक मंच का दुरुपयोग किया है। भारत ने इमरान के नस्लीय संहार, ब्लड बाथ, नस्लीय सर्वोच्चता, बंदूकें उठा लो जैसे एक-एक शब्द को गिनाते हुए कहा कि यह उनकी मध्यकालीन मानसकिता को दिखाती है।

विदिशा मैत्रा ने कहा कि क्या पाकिस्तान के पीएम इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि यह संयुक्त राष्ट्र द्वारा सूचीबद्ध 130 आतंकवादी और 25 आतंकवादी संस्थाओं का घर है?

विदिशा मैत्रा ने कहा कि पाकिस्तान को इतिहास नहीं भूलना चाहिए और याद रखना चाहिए कि 1971 में उन्होंने अपने लोगों के साथ क्या किया था। कभी क्रिकेटर रहे इमरान खान जो जेंटलमैन के गेम की बात करते थे, आज बंदूकें उठाने और युद्ध की बात करते हैं।

अब से कुछ ही देर में विदिशा मैत्रा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के UNGA में बोले गए एक-एक झूठ की कलई खोलेंगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के झूठ से पर्दा उठाने की जिम्मेदारी भारत ने विदेश मंत्रालय में फर्स्ट सेकरेट्री विदिशा मैत्रा को सौंपी है।

इमरान खान ने UNGA के मंच से भारत पर बलूचिस्तान में आतंकवाद फैलाने का आरोप भी लगाया। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यहीं नहीं थमे और उन्होंने भारत के अंदरूनी मुद्दों को भी यूएन के मंच पर उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि भारत सरकार ने कश्मीर में विपक्षी नेताओं को हिरासत में ले रखा है। इमरान ने कहा, ‘मैं सोचता हूं कि मैं अगर कश्मीर में होता और 55 दिनों से इस तरह बंद होता, तो मैं भी बंदूक उठा लेता। आप ऐसा करके लोगों को कट्टर बना रहे हैं। मैं फिर कहना चाहता हूं कि यह बहुत मुश्किल समय है।

UNGA की बैठक को संबोधित करते हुए इमरान खान ने दुनिया को इस्लामोफोबिया से ग्रसित करार दिया। उन्होंने भारत पर कश्मीर में मुसलमानों पर अत्याचार करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, अगर मुसलमानों को न्याय नहीं मिला तो वे हथियार उठा लेंगे। इमरान ने कहा, भारत में पुलवामा जैसा एक और आतंकी हमला होगा और इसके लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया जाएगा।

You might also like More from author

Leave a Reply

%d bloggers like this: