37 कैडेट्स भारतीय सैन्य अकादमी की मुख्यधारा में हुए शामिल

देहरादून। सिपाही के रूप में फौज के आधारभूत ढांचे को करीब से समझा और अब अधिकारी बनकर सेना को अपने नेतृत्व कौशल से मजबूत बनाएंगे। आर्मी कैडेट कॉलेज (एसीसी) की 112वीं ग्रेजुएशन सेरेमनी में 37 कैडेट्स भारतीय सैन्य अकादमी (आइएमए) की मुख्यधारा में शामिल हुए। अब वे अकादमी में एक साल का कड़ा प्रशिक्षण लेकर सेना में अधिकारी के रूप में पदार्पण करेंगे।

अपनी लग्न और परिश्रम के बूते ये मुकाम हासिल करने वालों में उत्तराखंडी जांबाज भी शामिल हैं। शुक्रवार को आइएमए के डिप्टी कमांडेंट (मेजर जनरल) जेएस मेहरा ने आर्मी कैडेट कॉलेज के 112वें कोर्स के 37 कैडेट्स को ग्रेजुएट्स की उपाधि और अवार्ड दिए। 20 कैडेट्स ह्यूमिनिटीज स्ट्रीम और 17 साइंस स्ट्रीम से ग्रेजुएट बने। कॉलेज से पासआउट होने के बाद कैडेट आइएमए में एक साल का प्रशिक्षण लेंगे।

डिप्टी कमांडेंट जेएस नेहरा ने सैन्य अफसर बनने की राह पर अग्रसर कैडेट्स को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कैडेट्स को याद दिलाया कि एसीसी ने देश को बड़ी संख्या में ऐसे जांबाज अफसर दिए हैं, जिन्होंने अपनी क्षमता के बलबूते कई पदक जीते। आर्मी कैडेट कॉलेज के प्राचार्य डॉ नवीन कुमार ने वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की।

 
इन कैडेट्स को मिला अवार्ड

चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ गोल्ड मेडल (सीओएएस)- जितेंद्र चहर
सीओएएस सिल्वर मेडल- संजय सिंह
सीओएएस ब्रांज मेडल- हरि प्रसाद
कमांडेंट्स सिल्वर मेडल

सर्विस सब्जेक्ट्स- जितेंद्र चहर
ह्यूमिनिटीज स्ट्रीम- संजोक क्षेत्री 
साइंस स्ट्रीम- संजय सिंह
कमान्डेंट्स बैनर-कारगिल कंपनी
डिप्टी कमान्डेंट का नाम जेएस नेहरा पढा जाए

You might also like More from author

Leave a Reply

%d bloggers like this: