Monthly Archives

October 2019

बेहद गोपनीय तरीके से बगदादी के शव को लगाया गया ठिकाने

आइएस सरगना (ISIS leader) अबू बकर अल बगदादी (Abu Bakr-al Baghdadi) के पार्थिव शरीर का अमेरिकी मानकों और सशस्‍त्र संघर्ष कानून (law of armed conflict) के तहत उचित तरीके से अंतिम संस्‍कार कर दिया गया है। अमेरिका के ज्‍वाइंट चीफ ऑफ स्‍टॉफ (US…

भाजपा और कांग्रेस पद के लिए दीपावली के बाद प्रत्याशियों का चयन होगा

भाजपा और कांग्रेस में महापौर पद के लिए दीपावली के बाद प्रत्याशियों का चयन होगा। दोनों ही पार्टियों में टिकट को लेकर मारामारी मची हुई है। टिकट घोषित होते ही दोनों दलों में बगावत होना लाजिमी है। ऐसे में अब दोनों ही पार्टियों के बड़े पदाधिकारी…

खट्टर के शपथ में पहुंचे त्रिवेंद्र सिंह रावत । दी बधाई

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंन्द्र सिंह रावत हरियाणा के दूसरी बार बने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के शपथ ग्रहण समारोह में पहुँचे व उनको पुनः मुख्यमंत्री बनने की बधाई दी । आपको बता दे कि खट्टर और त्रिवेंद्र रावत दोनो संगठन से जुड़े है व…

एप्पल फेस्टिवल का समापन… सीएम हुए शामिल

देहरादून: हर्षिल एप्पल फेस्टिवल के समापन के अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कई अहम घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि चीन सीमा से लगे प्रदेश के विकास खण्डों भटवाड़ी उत्तरकाशी, धारचूला,…

ब्रेकिंग : वन मंत्री हरक सिंह, पूर्व सीएम हरीश रावत व चैनल मालिक उमेश के विरूद्ध सीबीआई ने की…

नई दिल्ली। उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक समेत पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व एक चैनल मालिक उमेश कुमार पर विधायक खरीद फरोख्त मामले में आज सीबीआई ने एफआईआर दर्ज करा दी है। सीबीआई की इस कार्रवाई में सरकार के केबिनेट मंत्री भी फंस गये हैं। बता…

घाटी में सेना ने तोड़ी आतंक की कमर,जाकिर मूसा के गिरोह का खात्‍मा

सेना ने कश्मीर घाटी में आतंकियों की कमर तोड़ दी है। सेना के शीर्ष सूत्रों का दावा किया कि घाटी में जाकिर मूसा के गिरोह का समूल खात्‍मा कर दिया गया है। सुरक्षाबलों ने मंगलवार को जाकिर मूसा गिरोह के अंतिम सरगना अब्दुल हमीद ललहारी को मार…

राज आर्यन फिल्म्स का “स्टार्स ऑफ मंथ “

देहरादून : 20 अक्टूबर : उत्तराखंड की फ़िल्म उद्योग की जानी मानी हस्ती जिनके यू ट्यूब पर करोड़ों फैन्स है ,के द्वारा स्टार ऑफ द मन्थ कार्यक्रम यहाँ की बोली भाषा,संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जा रहा है । इस कार्यक्रम में भारी भीड़…

हंगामा क्यों है बरपा ? अनिल बलूनी चुप क्यों है ? कही चुनाव में भी नहीं दिखे ! ये क्या हुआ अचानक ?

अनिल बलूनी की उपलब्धियां है कि पत्रकारिता के नाम पर संघ कार्यालय का चक्कर काटने का अवसर मिला और इस दौरान में सुंदर सिंह भंडारी के इतने नजदीक आ गए कि जब भी बिहार के राज्यपाल बने तो उन्हें ओएसडी बना ले गए फिर भंडारी जहां-जहां गए बलूनी को साथ…