पूर्व सीएम निशंक और हरीश रावत के बीच चल रही ट्विटर पर जंग

हरिद्वार। हरिद्वार लोकसभा सीट से भाजपा-कांग्रेस ने भले ही अपने प्रत्याशियों की घोषणा न की हो, लेकिन दोनों ही पार्टियों के संभावित उम्मीदवारों पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक और हरीश रावत के बीच सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने नेता को लेकर जंग छिड़ गई है। हालांकि दोनों ही चुनाव आयोग की गाइड लाइन के मुताबिक, एक-दूसरे पर कमेंट करने या फिर चुनाव प्रचार से बच रहे हैं, लेकिन अपने-अपने नेता के बयान को लेकर दोनों एक-दूसरे को जवाब देने में भी कोई कोर-कसर बाकी नहीं रख रहे।

खास बात यह कि दोनों ही ज्यादातर अपने नेताओं की ही बात को ही आगे बढ़ा रहे है। निशंक के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कोई पोस्ट डालते ही हरीश रावत के अकाउंट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान-भाषण की कोई न कोई पोस्ट तुरंत ही हाजिर हो जाती है। कुछ ऐसा ही हाल निशंक टीम का भी है। निशंक ने मोदी के प्रचार में स्टार क्रिकेटर रहे विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के शामिल होने को लेकर ‘ईच वन, खींच वन’ का ट्विट किया तो इसके जवाब में हरीश रावत का ट्विट आया कि देश में बदलाव के प्रतीक माननीय राहुल गांधी।

वे यहीं नहीं रुके उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़ने मरोड़ने में माहिर है भाजपा। कहा, नेहरू जी ने कभी ये नहीं कहा कि भारत को संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य न बनाया जाए, उसके स्थान पर चीन को बना दिया जाए। उन्होंने यह भी ट्विट किया कि यह अजीब प्रथा है जो सत्ता में है, वही राष्ट्रवादी है और जो विपक्ष में हैं, अपना धर्म निभा रहे हैं, वो राष्ट्रद्रोही हैं।

बदले में निशंक ने गुजरात भाजपा का रि-ट्विट किया कि बालाकोट पर एयरफोर्स की कार्रवाई के बाद जब पूरे देश को गर्व होना चाहिए, दुर्भाग्य है कि जो लोग मोदी विरोधी हैं, वो तब देश के साथ खड़ा होने की बजाए पाकिस्तान का हथियार बन गए, पाकिस्तान की भाषा बोलने लगे।